Sunday, December 29, 2019

बिना हेलमेट पहने स्कूटी पर बैठीं थीं प्रियंका गांधी, लखनऊ पुलिस ने काटा चालान


बिना हेलमेट पहने स्कूटी पर बैठीं थीं प्रियंका गांधी, लखनऊ पुलिस ने काटा चालान लखनऊ में बीते शनिवार को नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी जिस स्कूटी से घूम रही थीं अब ट्रैफिक पुलिस ने उसका चालान काट दिया है. बता दें कि स्कूटी पर जाने के दौरान न तो उसे चलाने वाले कांग्रेस विधायक ने, और न ही प्रियंका गांधी ने हेलमेट पहना था.









बता दें कि पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी से मिलने जाने के दौरान पुलिस के रोके जाने के बाद प्रियंका गांधी ने स्कूटी का इस्तेमाल किया था और उसी से पूर्व अधिकारी के घर पहुंची थी. इस दौरान प्रियंका गांधी ने भी हेलमेट नहीं पहना था.



प्रियंका गांधी के हेलमेट इस्तेमाल नहीं करने को लेकर सोशल मीडिया पर सवाल उठा रहे थे, जिसके बाद लखनऊ ट्रैफिक पुलिस ने उसी स्कूटी का 6100 रुपये का चालान काटा है. यह चालान हेलमेट नहीं पहने जाने को लेकर काटा गया है. उत्तर प्रदेश यातायात पुलिस ने धीरज गुज्जर के खिलाफ नोटिस जारी किया है और 15 दिन के भीतर जुर्माना जमा करने को कहा है. धीरज गुर्जर ही कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को स्कूटी पर बैठाकर दारापुरी के घर ले गए थे.



जिस स्कूटी का चालान काटा गया है उसे राजस्थान से कांग्रेस विधायक धीरज गुर्जर चला रहे थे. पुलिस ने जो चालान काटा है उसमें ड्राइविंग लाइसेंस नहीं होने पर 2500 रुपये हेलमेट नहीं पहनने को लेकर 500 रुपये, ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने को लेकर 300 रुपये, खराब नंबर प्लेट के लिए 300 रुपये और गलत तरीके से गाड़ी चलाने को लेकर 2500 रुपये का चालान शामिल है.







प्रियंका गांधी जब पूर्व आईपीएस अधिकारी एसआर दारापुरी के परिवार से मिलने के लिए निकलीं तो उन्होंने पुलिस पर पहले रोकने और फिर गला दबाने का आरोप भी लगाया था. इतना ही नहीं प्रियंका गांधी ने यह भी कहा कि उन्हें पुलिस ने धक्का दिया जिससे वो गिर गईं.



दारापुरी पर लखनऊ में हिंसा भड़काने का आरोप लगाया गया था और उनके सोशल मीडिया पोस्ट को आधार बनाकर उन्हें यूपी पुलिस ने हिरासत में भी लिया था. पुलिस ने दारापुरी को लखनऊ में 19 दिसंबर को नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुए प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिया था.


बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) पर मोदी सरकार के विरोध प्रदर्शन के बाद प्रियंका गांधी दारापुरी के परिवार से मिलने गई थीं.



इस दौरान प्रियंका ने पुलिस पर उन्हें अनावश्यक रूप से रोकने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा, "मैं आई और परिवार के सदस्यों से मिली. मिस्टर दारापुरी को हिरासत में लिए जाने पर उन लोगों को धक्का लगा है, वे बहुत वरिष्ठ पुलिस अधिकारी रहे हैं.''








उत्तर प्रदेश में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के साथ बदसलूकी के आरोपों पर राज्य के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि जो धारा 144 का उल्लंघन करेगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.



उन्होंने कहा- प्रियंका गांधी या चाहे जो कोई भी हों. साथ ही मौर्य ने कहा कि कांग्रेस झूठी पार्टी है. कांग्रेस देश में अफवाह फैलाने और गुमराह करने का काम कर रही है.

No comments:

Post a Comment